X Close
X
9810952722

दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल का धरना – पर्यावरण सचिव मीटिंग में शामिल नहीं


Noida:

सोमवार से दिल्ली-एनसीआर समेत पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के आसमान में धूल से अगले 48 घंटे और राहत मिलने की उम्मीद नही है | परत की वजह से औसत न्यूनतम तापमान में पांच डिग्री बढ़ी और न्यूनतम पारा 28 डिग्री से 33 डिग्री हुआ है| मौसम वैज्ञानिकों की कहना है कि आसमान से जब तक राहत की फुहार नहीं बरसती तब तक लोगों को ऐसे ही प्रदूषण में रहना पड़ेगा| दिल्ली में धुल भरी आंधी के चलते सांस लेना मुश्किल हो रहा है| दमघोंटू, धूलभरी हवाएं चल रही है |

दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल धूल भरी आंधी में उपराज्यपाल अनिल बैजल के घर में धरने पर बैठे हैं| आज पांचवें दिन केजरीवाल ने वीडियो जारी कर धूल संकट के लिए आईएएस बिरादरी को जिम्मेदार बताया | केजरीवाल ने कहा है –“पर्यावरण सचिव चार महीनों से मीटिंग में ही नहीं आ रहे हैं|” उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी रविवार को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी से मिलेगी | केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली को पूर्ण राज्य और अधिकारियों की हड़ताल खत्म करने को लेकर दिल्ली में 10 लाख लोगों से चिट्ठी पर दस्तखत करवाकर पीएम को भेजा जाएगा|

केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी ने भी कहा है कि दिल्ली में प्रदूषण की स्थिति बहुत खतरनाक है | उन्होंने 2 साल के अन्दर दिल्ली के वायु और जल प्रदूषण को खत्म करने का प्लान बनाया है| गडकरी के मुताबिक, उनकी सरकार दिल्ली में कुल 40 हजार करोड़ रुपये खर्च करने जा रही है और जल्द ही दिल्ली के सीएम, एलजी, डीडीए, NHAI के साथ इसी मुद्दे पर मीटिंग होने वाली है|

दिल्ली के उपराज्यपाल ने प्रदूषण संकट से निपटने के लिए तत्काल प्रभाव से रविवार तक सभी तरह के निर्माण पर रोक लगा दी है, लेकिन बाहरी दिल्ली के कई इलाकों में इस आदेश की अवहेलना की जा रही हैं| आदेश को ताक पर रखकर प्रशासन की नाक तले दिल्ली के खास इलाके जैसे बुराड़ी, रोहिणी आदि में बिल्डर खुलेआम मकान बनवा रहे हैं और कई एकड़ में नई कॉलोनी भी काट रहें हैं |