X Close
X
9810952722

SPG नियमों पर सरकार की सख्ती, कांग्रेस ने सरकार के फैसले पर उठाए सवाल


sonia-rahul-300x169
Noida:SPG सुरक्षा देश में प्रधानमंत्री और पूर्व प्रधानमंत्रियों को दी जाती है. अभी ये सुविधा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा गांधी परिवार को मिलती है. इनमें कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा शामिल हैं. SPG सुरक्षा पर गृह मंत्रालय का फरमान, अब विदेशी दौरे पर साथ होंगे जवान अभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सिवा देश में सिर्फ तीन लोगों को ही SPG सुरक्षा कांग्रेस ने सरकार के फैसले पर उठाए सवाल, कांग्रेस बोली- निगरानी की कोशिश नई दिल्ली : स्पेशल प्रॉटेक्शन फोर्स (एसपीजी) में रहने वाले हर वीवीआईपी को इस विशिष्ट सुरक्षा कवर के पूरे नियम का पालन करना होगा। केंद्र सरकार ने कहा कि अब जिसे भी एसपीजी कवर मिला है, उसे हर वक्त एसपीजी टीम अपने साथ रखनी होगी, भले ही वह विदेश प्रवास पर ही क्यों न हो। अभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा गांधी परिवार के ही तीनों सदस्यों, सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को ही एसपीजी कवर मिला हुआ है। केंद्र सरकार ने गांधी परिवार को सुरक्षा देने वाले स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप को नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इस नए निर्देश के मुताबिक, गांधी परिवार के किसी भी सदस्य के विदेश यात्रा पर जाने के दौरान पूरे समय उनके लिए एसपीजी सुरक्षा अनिवार्य कर दी गई है। अब तक एसपीजी सुरक्षाकर्मी पहले विदेशी डेस्टिनेशन (फर्स्ट लोकेशन) तक ही गांधी परिवार के साथ जाते थे। विदेश यात्रा पर पूरे समय एसपीजी सुरक्षा अनिवार्य अगर गांधी परिवार के सदस्य इसे स्वीकार नहीं करते हैं तो सुरक्षा कारणों के मद्देनजर उनकी विदेश यात्रा में कटौती भी की जा सकती है। इसके पहले, फर्स्ट लोकेशन के बाद गांधी परिवार के सदस्य अपनी निजता का हवाला देकर सभी सुरक्षाकर्मियों को वापस भारत भेज देते थे। ऐसे में आगे की विदेश यात्रा के दौरान उनके लिए जोखिम बढ़ जाता था। दिल्ली लौटने तक हर वक्त साथ रहेंगे एसपीजी के जवान मोदी सरकार द्वारा जारी नए दिशा-निर्देशों के मुताबिक, अब अगर गांधी परिवार का कोई सदस्य लंदन के दौरे पर जाता है तो एसपीजी के सुरक्षाकर्मी दिल्ली लौटने तक उनसे साथ हर वक्त रहेंगे, जैसे कि वे भारत में उनके साथ रहते हैं। अगर पूर्व पीएम राजीव गांधी के परिवार का कोई सदस्य विदेश यात्रा पर जाना चाहता है तो संबंधित देश में भारतीय दूतावास स्थानीय पुलिस के साथ उन्हें एसपीजी सुरक्षा के अलावा भी सुरक्षा मुहैया कराने के लिए बात करेगा। कांग्रेस ने सरकार के फैसले पर उठाए सवाल जबकि कांग्रेस पार्टी सरकार द्वारा जारी की गई नई गाइडलाइन से नाराज नजर आ रही है। पार्टी की तरफ से कहा गया है कि हर किसी को किसी शख्स की निजता का सम्मान करना चाहिए। कांग्रेस का कहना है कि सुरक्षा तो बहाना है, दरअसल, सरकार गांधी परिवार पर निगाह बनाए रखना चाहती है। वहीं, कांग्रेस से बीजेपी में आए टॉम वडक्कन ने कहा कि अति विशिष्ट लोगों की सुरक्षा की जिम्मेदारी केंद्र सरकार पर होती है, इसलिए वीवीआईपी को हर जगह, हर हाल में सुरक्षा सुनिश्चित कराना होता है। उन्होंने कहा कि इसका मकसद हर वक्त सुरक्षा मुहैया कराना है और इसके पीछे निजता में दखल देने जैसी कोई बात नहीं है।